माता-पिता की सेवा सबसे बड़ा धर्म : सुरेश राणा

  |   Shamlinews

माता-पिता की सेवा सबसे बड़ा धर्म : सुरेश राणा

जलालाबाद (शामली)। प्रदेश के गन्ना विकास व चीनी उद्योग के कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि श्रीराम ने माता पिता की आज्ञा का पालन करने के लिए 14 वर्ष के वनवास को चले गए। श्रीराम के जीवन और उनकी लीला से मिलने वाले संदेश को सभी लोगों को अपने जीवन में अपनाना चाहिए।

मंगलवार को कस्बे के रामलीला मैदान में प्रदेश के गन्ना विकास व चीनी उद्योग के कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने विजय दशमी को अधर्म पर धर्म की विजय का प्रतीक बताया। उन्होंने कहा कि लंकापति रावण बड़ा विद्वान, पराक्रमी था, किंतु अहंकार के चलते अपने कुल का सर्वनाश कर लिया। भगवान श्रीराम के चरित्र से संदेश मिलता है कि हमें अपने माता पिता की आज्ञा का सदैव सम्मान करना चाहिए। उनकी सेवा ही मानव का सबसे बड़ा धर्म है।...

फोटो - http://v.duta.us/sic9AAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/gVX4zgAA

📲 Get Shamli News on Whatsapp 💬