राजकीय सम्मान के साथ हुई अजय की अंतिम विदाई, पार्थिव शरीर पैतृक गांव पहुंचते ही दर्शन के लिए टूट पड़े लोग

  |   Janjgir-Champanews

जांजगीर-चांपा. पोखरण युद्धाभ्यास में जाने की तैयारी करते वक्त जवान सेना के टैंक को कव्हर करते हुए हाईटेंशन तार की चपेट में आ गया। जिससे बुरी तरह से झुलस गया। तत्काल उसे मिलिट्री अस्पताल दिल्ली में भर्ती कराया गया था। जहां पखवाड़े भर बाद इलाज के दौरान जवान ने दम तोड़ दिया। मंगलवार की रात तिरंगा में लिपटे हुए पार्थिव शरीर पैतृक गांव बुड़ेना लाया गया। बुधवार को सुबह राजकीय सम्मान से अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान ग्रामीणों ने जवान को नम आंखों से विदाई दी।

मेरठ रेजिमेंट में जीडी आरक्षक के पद पर आरक्षक अजय यादव पिता भोजराम यादव पदस्थ था। २६ सितंबर को मेरठ से राजस्थान पोखरण युद्धाभ्यास में जाने की तैयारी चल रही थी। इस दौरान ट्रेन के हथियार को भर रहे थे। इसके बाद इसे ऊपर से नीचे तक कव्हर किया जा रहा है। इसी दौरान कव्हर करते समय अजय ट्रेन के हाईटेंशन तार के संपर्क में आ गया। जिससे वह बुरी तरह से झुलस गया। तत्काल जवान अजय को मिलिट्री अस्पताल दिल्ली ले जाया गया। जहां जवान का इलाज चल रहा था। आखिरकार 7 अक्टूबर को जवान जिंदगी की जंग हार गया। डाक्टरों ने अजय को मृत घोषित कर दिया। ८ अक्टूबर को अजय का शव को उसके पैतृक गांव बुड़ेना लायाा गया। तिरंगा से लिपटे हुए शव रात ९ बजे उसके घर पहुंचा। जहां रात भर दर्शन के लिए रखा हुआ था। बुधवार की सुबह राजकीय सम्मान के साथ अजय यादव का अंतिम संस्कार किया गया। इस अवसर पर एएसपी मधुलिका सिंह, एसडीओपी जितेन्द्र चंद्राकर, तहसीलदार संजय मिंज, थाना प्रभारी विवेक पांडेय सहित अन्य उपस्थित रहे। ज्ञात हो कि अजय यादव का सेना में भर्ती जुलाई 2016 में हुआ था। पहले दो साल वह जम्मू काश्मीर में तैनात था। उसके बाद मेरठ रेजिमेंट में जीडी आरक्षक के पद पर पदस्थ था।...

फोटो - http://v.duta.us/Vdq1HQAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/gZ9AwgEA

📲 Get Janjgir-champanews on Whatsapp 💬