राफेल✈️ हुआ हमारा, लेकिन भारत 🇮🇳आने में लगेंगे 8 महीने, उड़ान भरने 😱में 19 महीने

  |   Hindielections / समाचार

एक लंबे इंतजार और विवादों की दीवार को पार करते हुए आखिरकार भारत को पहला फ्रांसीसी लड़ाकू विमान राफेल मिल ही गया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को शस्त्र पूजा करने के साथ ही दसॉल्ट कंपनी से पहले राफेल विमान को रिसीव किया, इसी के साथ भारत आसमान में और भी अधिक शक्तिशाली हो गया है। हालांकि, भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल होने में राफेल विमान को अभी लंबा वक्त लगेगा, क्योंकि अभी तो भारतीय वायुसेना के जवानों की ट्रेनिंग शुरू होगी।

भारत फ्रांस से कुल 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीद रहा है, मंगलवार को इसी किस्त का पहला विमान राजनाथ ने रिसीव किया। हालांकि, ये सिर्फ आधिकारिक हैंडओवर है अभी ये विमान फ्रांस में ही रहेगा, जहां वायुसेना के जवान इसकी ऑपरेशनल ट्रेनिंग लेंगे।

36 विमानों में से 4 विमानों की पहली किस्त मई 2020 तक भारत को मिलेगी और ये विमान हिंदुस्तान की धरती पर पहुंचेंगे। लेकिन इसके बाद इस्तेमाल में लाने में भी इसे समय लगेगा और फरवरी 2021 तक जाकर ये विमान पूरी तरह से ऑपरेशनल होंगे।

गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना को जो 36 विमान मिलने हैं, उनके भारत पहुंचने की डेडलाइन सितंबर, 2022 है। यानी अगले तीन साल में सभी 36 राफेल लड़ाकू विमान भारत पहुंच सकते हैं जो कि वायुसेना को दमदार बनाने के लिए काफी हैं। भारत-फ्रांस के बीच हुई इस डील की कीमत करीब 59 हजार करोड़ रुपये की थी।

मंगलवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दशहरा के अवसर पर राफेल विमान को रिसीव किया, इसे रिसीव करने से पहले राजनाथ ने विधिवत रूप से शस्त्र पूजा की। इस दौरान फिर चाहे राफेल पर रोली से ‘ऊँ’ लिखना हो या फिर पहिया चलने से पहले नींबू रखना राफेल विमान के कार्यक्रम के दौरान पूरा देसी अंदाज दिखा।

फोटो - http://v.duta.us/RvrgxQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/NuRW9QAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬