श्रीराम के तीर से ढेर हुआ लंकेश

  |   Firozabadnews

फिरोजाबाद। विजय दशमी पर रामलीला मैदान में भगवान श्रीराम द्वारा रावण का वध किए जाने के बाद 40 फीट ऊंचे रावण के पुतला का दहन किया गया। पुतला दहन देखने के लिए रामलीला परिसर में अपार भीड़ मौजूद रही। पुतला दहन के साथ ही आसमान में आतिशबाजी का नजारा देख लोग रोमांचित हो गए। रावण वध की लीला का मंचन देखने के लिए शाम चार बजे से ही लोग रामलीला मैदान पर पहुंचने लगे। गांवों से ट्रैक्टर-ट्राली और ऑटो रिक्शा से लोग लीला देखने आ रहे थे।

देर शाम तक हजारों लोगों की भीड़ रामलीला परिसर में एकत्रित हो गई। रामलीला मैदान में लीला स्थल पर संवादों के साथ राम और रावण का युद्ध शुरू हुआ तो हजारों लोग रावण वध का इंतजार करने लगे। लीला का वाचन करने वाले पंडित महावीर शर्मा रामायण की चौपाइयों के साथ वाचन किया। युद्ध के मैदान में प्रभु श्रीराम के रावण की नाभि पर निशाना करते हुए तीर छोड़ते ही दशानन धराशाई हो गए। उधर, श्रीराम ने प्रतीकात्मक रूप से जलते हुए बाण को मैदान में रखे दशनान के पुतले में भेदा पटाखों का धमाका होने लगा। पुतले में लगी आतिशबाजी से मैदान में आर्कषक नजारा दिखाई दिया। जयश्रीराम के उद्घोष से मैदान गूंजने लगा।

फोटो - http://v.duta.us/2H5pvAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/SAga0gAA

📲 Get Firozabad News on Whatsapp 💬