संदिग्ध मौत की शंका में... कब्र से निकाला गया बालिका का शव, देवास में नहीं हो सका पीएम

  |   Dewasnews

देवास. टोंकखुर्द तहसील के ग्राम नायता पोलाय में पांच दिन पहले हुई बालिका की मौत के मामले में परिजनों द्वारा शंका जताने के बाद मंगलवार को उसका शव कब्र से निकाला गया। यहां से परिजन शव लेकर जिला अस्पताल पहुंचे, चूंकि शव का ऊपरी हिस्सा गलने लगा था इसलिए यहां पीएम नहीं हो पाया। परिजन काफी देर तक इंतजार के बाद शव लेकर इंदौर के लिए रवाना हो गए।

२ अक्टूबर को बालिका अलसिफा (६) अचानक लापता हो गई थी। उस समय उसके पिता हकीम पटेल जो मिस्त्री का काम करते हंै वो टोंककला गए हुए थे। सूचना मिलने पर वो घर आए थे और तलाश शुरू की थी। घर के आसपास सहित गांव, तालाब के आसपास आदि में खोजबीन के बाद भी कुछ पता नहीं चला था। कई घंटे के बाद अलसिफा अपने ही घर में पाट के ऊपर मृत अवस्था में मिली थी। उस समय मौजूद लोगों ने करंट लगने से मौत होने की बात कही थी, परिजनों ने भी इसे सामान्य मौत मानकर शव को दफना दिया था। बाद में परिजनों को बालिका को नहलाने वाली महिलाओं ने बताया कि अलसिफा का आधा चेहरा काला पड़ गया था, गले व हाथ में भी कुछ निशान थे। उधर घटनास्थल से रस्सी के कुछ टुकड़े भी बाद में मिले जिससे परिजनों को हत्या की शंका हुई। इसके बाद टोंकखुर्द थाने में सोमवार को मर्ग कायम करवाया गया। परिजनों के अनुरोध पर मंगलवार को पुलिस-प्रशासन की उपस्थिति में शव को कब्र से निकालकर जिला अस्पताल में दोपहर करीब १२.३० बजे लाया गया। यहां टोंकखुर्द थाने के एएसआई चंदर सिंह, मानसिंह गामोड़ व आरक्षक भी पहुंचे और स्वास्थ्य व पुलिस विभाग के अधिकारियों से पीएम की स्थिति को लेकर चर्चा की। शव की स्थिति बिगड़ी हुई देख पीएम नहीं हो सका। शव लेकर देवास आए आबिद ने बताया बाद में शव लेकर एमवाय अस्पताल इंदौर गए थे। वहां शव रख दिया गया है, बुधवार को डॉक्टरों की पैनल द्वारा पीएम किया जाएगा।

फोटो - http://v.duta.us/6BPzmAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/IJGCEgAA

📲 Get Dewas News on Whatsapp 💬