हाथ जोड़े.. बात मानी... और नहर में कूदे शरणवीर

  |   Meerutnews

सरधना/मेरठ। 63 साल के सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य शरणवीर सिंह ने अचानक से जिस तरह से दो कदम उठाए, वह अफसरों की समझ में नहीं आए। अधिकारियों ने अनशन खत्म करने की बात कही तो शरणवीर ने हाथ जोड़कर बात मानी। लेकिन अगले ही पल नहर में छलांग लगा दी। जिसने हड़कंप मचा दिया। लेकिन नहर की शरण लेने वाले शरणवीर द्वारा खुद ही तैरकर झाड़ी में छिपना भी हैरत भरा रहा। हालांकि बाद में अधिकारियों ने यह कहकर पीछा छुड़ाने का प्रयास किया कि जो कुछ हुआ, वह हमारे जाने के बाद हुआ।

दस दिनों से अनशन पर बैठे शरणवीर सिंह ने देवी के सारे व्रत भी रखे थे। मंगलवार शाम जब एसडीएम अमित भारतीय और सीओ सरधना पंकज सिंह मनाने पहुंचे तो शरणवीर का तर्क था कि गंगनहर का यह पुल करीब 150 साल पुराना है। इस पुल की जगह दूसरे पुल का निर्माण कराया जाए। इस पर अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि दिसंबर में पुल का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। इस दौरान पुलिस ने मौके पर मौजूद समर्थकों को खदेड़ दिया। जिसके बाद स्थिति बिगड़नी शुरू हुई। शरणवीर सिंह ने एसडीएम और सीओ के हाथ जोड़े और कहा कि चलो मैं आपकी सारी बात लूंगा। लेकिन यदि पुल नहीं बना तो यहीं पर प्राण त्याग दूंगा। एक बार बस मीडिया को बुला लूं।...

फोटो - http://v.duta.us/bSf10QAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/e4S0tgAA

📲 Get Meerut News on Whatsapp 💬