Ajmer News : दहन के बाद रावण की राख साथ ले गए राम भक्त

  |   Ajmernews

अजमेर.

नगर निगम के दशहरा महोत्सव के तहत मंगलवार को पटेल मैदान में राम ने जैसे रावण की नाभि में शक्तिबाण मारा वैसे ही जयकारों से मैदान गूंज उठा और कुछ मिनटों में दशानन का दंभ चूर-चूर हो गया। रावण का पुतला धूं-धूं कर राख में तब्दील हो गया। रावण के साथ उसके पुत्र मेघनाथ व भाई कुंभकर्ण के पुतले भी जलाए गए। लंका दहन भी किया गया। रावण दहन देखने के लिए हजारों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। दहन के तुरंत बाद लोगों का रावण की चीता के पास पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया। महिला-पुरुष कागज पर लकड़ी और राख रखने लगे और उसकी पुडिय़ा बांध कर साथ ले गए। पार्षद नौरत गुर्जर ने बताया कि लोग रावण की राख को घर पर ले जाते हैं और पूजा करते हैं, इसे शुभ माना जाता है। उन्होंने कहा कि चुंकी रावण विद्धान था, वह अधर्म के रास्ते पर चला, इसलिए भगवान राम ने उसका नाश किया और धर्म की जीत हुई। पार्षद चंद्रशेखर बालोटिया ने बताया कि लोग दीपावली पर राख और लकड़ी की पूजा करते हैं और अलमारी में रखते हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/DMBrGgAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/CdsixwEA

📲 Get Ajmer News on Whatsapp 💬