Omg: शहर में कल रात हुई साल की सबसे बड़ी चोरी, सैकड़ों ग्रामीणों ने दिया घटना को अंजाम, अब...

  |   Jagdalpurnews

Bastar Dussehra 2019: जगदलपुर. बस्तर दशहरा में मंगलवार को भीतर रैनी पूजा विधान पूरी की गई। विजय रथ पर देवी छत्र और खड़्ग के साथ मंदिर के मुख्य पुजारी रथ पर सवार होकर मावली मंदिर की परिक्रमा पूरी की। बड़ी बात ये है कि इस विधान में चार पहियों की जगह पर आठ पहियों वाले विशालकाय रथ से परिक्रमा पूरी की गई।

8 से 10 हजार लोगों की भीड़ जूटी थी

रात करीब ९ बजे माता का छत्र रथ पर चढ़ाया गया। यहां पर आदिवासी पारंपरिक वाद्य यंत्रों और पुलिस बल ने हर्ष फायर कर सलामी दी। इसके बाद रथ में माता का छत्र लेकर परिक्रमा शुरू हुई। सिरहासार भवन से गोलबाजार, गुरुगोङ्क्षवद सिंह चौक होते हुए मां दंतेश्वरी मंदिर तक यह रथ खींचा गया। रात करीब १०.३० बजे यह परिक्रमा पूरी हुई। आठ पहियों वाले इस रथ को कोड़ेनार, किलेपाल परगना केे करीब दो से ढ़ाई हजार आदिवासियों ने खींचा। रथ के आगे देवी-देवताओं के साथ मांझी और चालकी चले। ढोल-नंगाड़े और आतिशबाजियों के बीच रथ परिक्रामा पूरी हुई। इस दौरान माता के छत्र का दर्शन करने करीब 8 से 10 हजार लोगों की भीड़ जूटी हुई थी।...

फोटो - http://v.duta.us/dkcDIQAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/02DLrQAA

📲 Get Jagdalpurnews on Whatsapp 💬