एमवायएच : डीन ने कर दी सख्ती, ओपीडी के साथ अब वार्डों में डॉक्टरों का दौरा अनिवार्य

  |   Indorenews

इंदौर. एमवाय अस्पताल के डॉक्टरों की लगातार शिकायतें आ रही थी कि वे शाम के समय वार्डों का दौरा नहीं करते। नियम है कि ओपीडी में सुबह बैठने वाले डॉक्टरों को शाम को मरीजों के वार्डों में जाकर देखना है। इसके चलते कल एमजीएम मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. ज्योति बिंदल एमवाय अधीक्षक डॉ. एडी भटनागर को लेकर अचानक अस्पताल के निरीक्षण पर पहुंची। जहां कई खामियां मिलीं। डीन की सख्ती के बाद अब ओपीडी के साथ वार्डों में भर्ती मरीजों को सीनियर डॉक्टरों के द्वारा देखना भी अनिवार्य कर दिया है।

गौरतलब है कि एमवाय अस्पताल में पूर्व एसीएस राधेश्याम जुलानिया ने शाम की ओपीडी लगाने की योजना बनाई थी। लेकिन चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधीन आने वाले मेडिकल कॉलेजों के डॉक्टरों को प्रायवेट प्रेक्टिस की छूट होने के कारण वे निजी अस्पतालों में मरीजों को देखते हैं। ऐसे में एमवाय में शाम की ओपीडी से उन्होंने दूरी बनाए रखी। किसी भी डॉक्टर ने इसमें रुचि नहीं दिखाई। इसके बाद कई डॉक्टर सुबह की ओपीडी तक में नहीं पहुंचते और सिर्फ जूनियर डॉक्टरों के भरोसे ओपीडी चलती रहती। इसी के चलते कॉलेज की डीन डॉ. बिंदल ने अब सख्ती करना शुरू कर दिया है। पिछले दिनों जहां एमवाय अस्प्ताल की ओपीडी का औचक निरीक्षण किया था, वहीं कल मुख्य इमारत में भर्ती मरीजों से मिलीं और खाने की जांच कर स्टॉफ, मरीजों और उनके परिजनों से भी बात की।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/oH5iVgAA

📲 Get Indore News on Whatsapp 💬