घरवाले नहीं आए सामने तो मीना के लिए डॉक्टर बने 'भगवान', खुद के रिक्स पर ब्रेन का ऑपरेशन कर बचाई जान

  |   Dehradunnews

देहरादून के दून मेडिकल कॉलेज में भर्ती मरीज मीना देवी उम्र 45 साल के लिए अस्पताल के डॉक्टर किसी भगवान से कम नहीं साबित हुए। महिला कई दिन से अस्पताल में भर्ती थी, लेकिन बार-बार संपर्क करने के बाद भी उसका बेटा और परिवार वाले अस्पताल नहीं आ रहे थे।

ऐसे में जान का खतरा देखते हुए डॉक्टरों ने खुद के ही रिस्क पर महिला का ब्रेन का ऑपरेशन कर उसकी जान बचाई। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर के के टम्टा ने महिला का ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर डीपी तिवारी, डॉक्टर विजय भंडारी और डॉक्टर अतुल का आभार व्यक्त किया। प्राचार्य डॉ आशुतोष सायना ने पूरी टीम को बधाई दी।...

फोटो - http://v.duta.us/kJ6szAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/DAgTSQAA

📲 Get Dehradun News on Whatsapp 💬