पत्रिका स्टिंग: 3000 मिलेंगे... सुबह 7 से रात 11 बजे तक करना होगा काम, दुकानों से लेकर होटलों में चल रहा ऐसा खेल

  |   Sikarnews

विक्रम सिंह सोलंकी, सीकर.

patrika sting on child labour : हम हर साल बाल दिवस ( Children's Day 2019 ) मनाते हैं, लेकिन सिर्फ कुछ कार्यक्रम कर अपनी जिम्मेदारी पूरी कर लेते है। बच्चों के लिए अनिवार्य शिक्षा तो ले आए, लेकिन आज भी हजारों बच्चे शिक्षा से वंचित हैं। होटल, ढाबों, चाय की दुकानों पर बच्चों और किशोरों से 16 घंटों तक काम करवाया जा रहा है। राजस्थान पत्रिका ने आज की हकीकत को जानने के लिए एक स्टिंग आपरेशन किया। स्टिंग के दौरान बेहद चौंकाने और दुकानदारों के शर्मनाक बयान सुनने को मिले।

डिपो के पास एक होटल में तो सुबह 7 से रात 11 बजे तक काम करने के लिए बोला। कल आने के लिए बोल कर उसे दिन में रोटी और तीन हजार महीने देने के लिए बोला। पत्रिका टीम ने 12 साल के किशोर के परिजनों की अनुमति से मदद ली। टीम के साथ नाबालिग को कै मरे लगा कर साथ में भेजा गया। पत्रिका टीम ने शहर के कल्याण सर्किल, डिपो के पास, जयपुर रोड, राणी सती रोड सहित एक दर्जन दुकानों का रियलिटी चैक किया। हैरानी की बात है कि शराब की दुकानों पर बिना रोकटोक सेल्समैन नाबालिगों को शराब बेच रहे हैं। होटलों व ढाबों पर भी बच्चों व किशोरों से 16 घंटों तक मजदूरों की तरह काम करवाया जा रहा है। चाय की दुकानों पर काम करवाया जा रहा है। किराणे की दुकानों पर 12 घंटों तक काम करवाया जा रहा है। हालांकि दो होटलों पर नाबालिग से काम करवाने के लिए मना कर दिया।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/QPZXmQAA

📲 Get Sikar News on Whatsapp 💬