प्याज पर मुनाफाखोरी का खेल, बाजार में पुराने में नया प्याज मिलाकर बेच रहे 70 रुपए में

  |   Raipurnews

रायपुर. राजधानी में महंगे प्याज की वजह से डिमांड में 60 से 70 फीसदी तक की कमी आ चुकी है, लेकिन फिर भी कीमतों से राहत नहीं मिली है। दूसरी तरफ नए प्याज को पुराना बताकर बाजार में नए तरीके से मुनाफाखोरी जारी है। दरअसल नए प्याज की कीमत बाजार में 35 से घटकर 30 रूपए किलो तक आ चुकी है, लेकिन मिनी होलसेलर से लेकर रिटेलर के दुकानों में नए और पुराने प्याज को मिलाकर इसे 60 से 70 रुपए में बेचा जा रहा है। बड़े थोक कारोबारियों के मुताबिक नए प्याज की अधिकतम कीमत 40 से 45 रुपए होनी चाहिए, लेकिन बाजार में नए और पुराने प्याज के रिटेल कीमतों में सिर्फ 5 रुपए का फर्क देखा जा रहा है। सरकारी काउंटरों में भी पुराने प्याज की कीमत ५५ और नए प्याज की कीमत 50 रुपए हैं। बाजार में इस असमानता के बारे में कारोबारियों का कहना है कि नए प्याज की बोरी में 10 से 15 किलो खराब निकल रहा है, जिसकी वजह से प्रति बोरी प्याज में कारोबारियों को बड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है। इस नुकसान की भरपाई कीमत बढ़ाकर की जा रही है। प्याज की कीमत भी पुराने प्याज से सिर्फ 5 रुपए कम हैं।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/t_f-wQAA

📲 Get Raipurnews on Whatsapp 💬