बंद कमरे में मिला पुजारी का शव, जांच में जुटे अफसर, जड़ी-बूटियों की दवा से करते थे उपचार

  |   Meerutnews

मुजफ्फरनगर जनपद के गांव रहकड़ा में काली मंदिर के पास कच्चे मकान में रहने वाले पुजारी की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। गुरुवार शाम उनका शव कच्चे मकान के बंद कमरे में पड़ा मिला, जिसके सिर में चोट के निशान थे। पुजारी पैरों में जूते पहने थे। पुलिस ने शव को मोर्चरी भिजवा दिया और मामले की जांच शुरू कर दी है।

पश्चिम बंगाल प्रांत के जनपद नदिया निवासी गौतमदास (50) पुत्र रविंद्र मोहन करीब 12 साल से क्षेत्र के गांव रहकड़ा स्थित काली मंदिर में पूजा-पाठ करते थे। मंदिर के पास ही गांव निवासी सतेंद्र के खाली पड़े कच्चे मकान के कमरे में उन्होंने डेरा डाला हुआ था। गुरुवार सुबह से पुजारी के दिखाई नहीं देने पर कुछ ग्रामीण एकत्र होकर उन्हें देखने मकान में पहुंचे, जहां पुजारी का कमरा अंदर से बंद मिला। ग्रामीणों ने किसी तरह कमरे का जर्जर गेट खोलकर अंदर कदम रखा तो चारपाई पर पुजारी का शव पड़ा मिला। उनके सिर में चोट का निशान था, जिससे थोड़ा सा खून निकला हुआ था।...

फोटो - http://v.duta.us/t2btYAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/6IeNNwAA

📲 Get Meerut News on Whatsapp 💬