'वीसी ने लड़ा था क्रांतिकारियों के खिलाफ केस, लखनऊ यूनिवर्सिटी पर लगा ताला'

  |   Lucknownews

लखनऊ विश्वविद्यालय का गौरवशाली इतिहास सिर्फ शिक्षा तक ही सीमित नहीं रहा है। बात जब देशप्रेम की आई तो विद्यार्थी से लेकर शिक्षक तक अंग्रेजों के खिलाफ सभी एकजुट हो गए। अंग्रेजों का सहयोग करने और क्रांतिकारियों का विरोध करने वालों को भी छात्रों के कोप का सामना करना पड़ा।

इस कोप से पूर्व कुलपति पंडित जगत नारायण 'मुल्ला' (जो काकोरी ट्रेन डकैती मामले में क्रांतिकारियों के खिलाफ सरकारी वकील थे) भी नहीं बच पाए। उनका विरोध इतना बढ़ा कि लखनऊ विश्वविद्यालय अनिश्चितकाल के लिए बंद करना पड़ा। आजादी की लड़ाई में नौ अगस्त 1925 को हुई काकोरी ट्रेन डकैती एक बड़ी घटना है।...

फोटो - http://v.duta.us/zQAzkgAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/fHjD_gAA

📲 Get Lucknow News on Whatsapp 💬