अयोध्या पर फैसला समझ से परे है : मौलाना सैयद अरशद मदनी

  |   Delhinews

नई दिल्ली। अयोध्या फैसले के बाद मीडिया से मुखातिब हुए जमीयत उलेमा हिंद के अध्यक्ष मौलाना सैयद अरशद मदनी ने कहा कि सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ भूमि नहीं लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला समझ से परे है। फैसला यह आया है कि मंदिर तोड़कर मस्जिद नहीं बनाई गई। मंदिर तोड़ने का कोई सबूत नहीं है। बाबरी मस्जिद किसी दूसरे के इबातगाह को तोड़कर नहीं बनाया गया है। यह भी कहते है जिन्होंने मस्जिद को तोड़ा है वह अपराधी है, मुजरिम है और फिर उन्हीं अपराध करने वालों को बाबरी मस्जिद दी जा रही है। हमारी समझ से बाहर है यह फैसला।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/70Ew7gAA

📲 Get दिल्ली समाचार on Whatsapp 💬