आत्मज्ञान के लिए नेपाल, इंग्लैंड से आए कबीर पंथी, सीख रहे बीजक के गुर

  |   Burhanpurnews

बुरहानपुर. देश के पहले बीजक महाविद्यालय कबीर निर्णय मंदिर में संस्थापक आचार्य पूरण साहेब की १८२वीं पुण्यतिथि पर चार दिवसीय महोत्सव चल रहा है। देशभर से हजारों साधक मंदिर पहुंच कर कबीर के बीजक का पाठ कर संतों के प्रवचन सुन रहे है। अंतिम दिन शुक्रवार को गुरुपूजन के साथ महोत्सव का समापन होगा। बीजक ज्ञान के लिए अनुयायी एक व्यक्ति इंग्लैंड में जॉब करते हैं, जो यहां पहुंचे जबकि कुछ नेपाल से पहुंचे हैं।

संत दानवीरदास साहेब ने बताया कि कबीर मंदिर में चल रहे चार दिवसीय महोत्सव में दोनों समय संतों द्वारा प्रवचन कर साधकों को कबीर और बीजक का पाठ कर अनुयायियों को ज्ञान दिया जा रहा है। महोत्सव में प्रतिदिन सुबह ५.३० बजे बीजक पाठ, ८ बजे आरती और ११ बजे से संतों का प्रवचन कार्यक्रम शुरु हो जाता है। रात के समय भी मंदिर में बीजक पाठ, पूजा आरती के साथ प्रवचन होते है। शुक्रवार को महोत्सव के अंतिम दिन पूरण साहेब की पुण्यतिथि पर बीजक पाठ के साथ दोपहर १२ बजे से गुरुपूजन कार्यक्रम शुरु होगा। इसमें कबीर पंथी गुरुओं की साधकों द्वारा पूजा की जाएगी। गुरुवार को संत दिनेश साहेब नागपुर, बना साहेब, संत भूपेेंद्र साहेब का प्रवचन हुआ।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/MKECYgAA

📲 Get Burhanpur News on Whatsapp 💬