आयुष्मान योजना का कार्ड बनाने के नाम पर लाखों की ठगी

  |   Lakhimpur-Kherinews

मितौली। आयुष्मान भारत योजना का स्वास्थ्य कार्ड बनाने के नाम पर गरीब नागरिकों से आधार कार्ड लेकर उनके फिंगर प्रिंट के सहारे लाखों रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। बाइक सवार दो ठगों ने रेवाना गांव में जाकर ग्रामीणों को अपनी बातों में फंसाकर लालच दिया, फिर उनको चूना लगाया। पीड़ित ग्रामीणों ने मितौली पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की गुहार लगार्ई है।

थानाक्षेत्र के गांव रेवाना में मंगलवार को दो अज्ञात लोग बाइक से पहुंचे और ग्रामीणों को बताया कि वह आयुष्मान भारत योजना के तहत स्वास्थ्य कार्ड बनाते हैं। इससे पांच लाख तक का स्वास्थ्य लाभ मिलेगा। उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि इसमें आधार कार्ड नंबर और अंगूठा लगेगा। ग्रामीण ठगों की बातों में आए गए और आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए आधार कार्ड दे दिया। इसके बाद ठगों के कहने पर फिंगर प्रिंट लगाना शुरू कर दिया। ग्रामीणों में संजय कुमार, उमेश, मोहन लाल, रोहित कुमार, राजेश, रामनिवास, अनुपम कुमार, मीना देवी समेत 45 नागरिकों के आधार कार्ड लेकर ठगों ने अंगूठा लगवाए। ठगों ने ग्रामीणों को बताया आपका स्वास्थ्य कार्ड 15 दिनों में डाक द्वारा आपके घर आ जाएगा। उनके चले जाने के बाद जब दूसरे दिन कुछ ग्रामीण अपने खाते से पैसा निकालने बैंक पहुंचे, तो अपने खाते से हजारों रुपये निकले देख दंग रह गए। इसके बाद खबर गांव में फैल गई। जितने लोगों ने स्वास्थ्य कार्ड बनवाने के लिए अंगूठे लगाए थे, सबने अपना एकाउंट चेक किया तो सन्न रह गए। अधिकांश खाताधारक इलाहाबाद बैंक शाखा कस्ता और कुछ आर्यावर्त बैंक शाखा दरी के हैं। सभी 45 लोगों के खातों से करीब चार लाख रुपये निकल चुके थे। थानाध्यक्ष अनिल कुमार सैनी ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/h31ANAAA

📲 Get Lakhimpur Kheri News on Whatsapp 💬