इन छात्राओं ने स्कूल में मिले बिस्किट के पैकेट घर न ले जाकर वृद्धाश्रम में किए वितरित

  |   Damohnews

दमोह. सेंट्रल स्कूल में १४ नवंबर बाल दिवस को सांस्कृति कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जिसमें स्कूल के बच्चों को बिस्किट के पैकेट वितरित किए गए थे। लेकिन कक्षा बारहवीं की चार छात्राओं को मिले पैकेट्स उन्होंने एकत्रित किए इसके बाद उन्होंने पॉकेट मनी से और पैकेट खरीदकर वृद्धाश्रम में जाकर वृद्धजनों को बिस्किट पैकेट का वितरण किया। साइंस व कॉमर्स की छात्रा साक्षी दुबे, आशी ठाकुर, बांसुरी सिंघई व राजवीना ठाकुर ने बताया कि उन्हें सेंट्रल स्कूल में बिस्किट के पैकेट मिले थे। लेकिन उनकी संख्या वृद्धाश्रम में रहने वाले ३० वृद्धों से काफी कम थी। इसलिए उन्होंने आपस में पॉकेटमनी को एकत्रित कर मार्केट से और पैकेट्स खरीदकर वृद्धाश्रम के वृद्धजनों को वितरित किए। उन्होंने बताया कि इसके पीछे उनका उद्देश्य यह था कि बुजुर्गों से मिलने कोई नहीं जाता है। उन्हें पता ही नहीं चलता होगा कि कब कौन सा दिवस आया और निकल गया। उन्होंने सोचा कि वह मिलने जाएंगी। और जब उन्हें बिस्किट पैकेट्स का वितरण करेंगी तो उन्हें बालदिवस का स्मरण हो जाएगा। छात्राओं ने कहा कि बुजुर्ग ही होते हैं जो बच्चों को सही मार्ग पर चलना सिखाते हैं। इसलिए हमेशा उनके संपर्क में बने रहना चाहिए।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/L1sOuwAA

📲 Get Damoh News on Whatsapp 💬