खल रही महाविद्यालय को व्याख्याताओं की कमी

  |   Sawai-Madhopurnews

चौथकाबरवाड़ा. उपखंड मुख्यालय पर एक मात्र संस्कृत शास्त्री महाविद्यालय में व्याख्याताओं की कमी खल रही है। यहां दो ही व्याख्याता थे। इनमें से भी एक व्याख्याता हंसराज मीना का स्थानांतरण हो चुका है, लेकिन व्याख्याता कोर्ट से स्टे लेकर रुके हुए हैं। वही इस मामले को लेकर पूर्व में छात्र संगठन द्वारा जनप्रतिनिधियों से लेकर जिला कलक्टर सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन सौंपकर प्रदर्शन किया जा चुका है, लेकिन सुनवाई नहीं होने से परेशानी हो रही है।

छात्रों के भविष्य पर संकट

महाविद्यालय में वर्तमान में 103 छात्र अध्ययनरत है, लेकिन व्याख्याताओं की कमी के चलते छात्रों के भविष्य पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। वहीं छात्रों में भी नाराजगी है। उपखंड मुख्यालय पर महाविद्यालय करीब 15 साल पहले खोला गया था, लेकिन भवन का अभाव होने के कारण कई सालों तक इसे संस्कृत विद्यालय में संचालित करना पड़ा तथा कुछ सालों से पांवाडेरा मार्ग पर चल रहा है। यहां भी मात्र दो हॉल में ही यह महाविद्यालय चल रहा है। हालांकि वर्तमान में महाविद्यालय भवन निर्माण के लिए बजट मिल गया है तथा कार्य चल रहा है।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/Wh3X-gAA

📲 Get Sawai Madhopur News on Whatsapp 💬