गंदगी से अटे हैं इसलिए मिसाल...

  |   Bharatpurnews

भरतपुर. शहरी सरकार नगर निगम ने अपने क्षेत्र में स्वच्छता के नाम पर पुरुष मूत्रालयों का निर्माण कराने में लाखों रुपए खर्च किए, लेकिन खर्च के बाद भी गंदगी से अटे शौचालय व सुलभ सुविधाएं निगम की लापरवाह कार्यप्रणाली की गवाही दे रहे हैं। यहां न सफाई और न सफाई के प्रबंध हैं। निगम ने कुम्हेर गेट से बिजली घर व अन्य स्थानों पर बीते 15 वर्षों में कई मूत्रालय व सुलभ कॉम्प्लेक्स के निर्माण पुरुषों की सुविधा के लिए कराए, लेकिन महिला शौचालयों की अनदेखी कर दी।

यह स्थिति तब है जब निगम के 50 वार्डों में लगभग 22 महिला पार्षद हैं। अपने क्षेत्र से जीतने के बाद भी इन महिला जनप्रतिनिधियों ने महिलाओं के लिए शौचालयों का निर्माण नहीं कराया। ऐसे में राह चलती महिलाओं को परेशानी से जूझना पड़ता है।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/ImROvAAA

📲 Get Bharatpur News on Whatsapp 💬