चंबल के रौद्र रूप की चपेट में आया 'शिव परिवार'

  |   Jaipurnews

यूं तो शिव जी गंगा को जटा में धारण किए हुए हैं, लेकिन परंतु केशवराय पाटन उपखंड के रोटेदा गांव के पास से होकर निकल रही चम्बल नदी के किनारे स्थित करीब दो सौ साल पुराने शिव मंदिर में स्थापित शिव परिवार चंबल के रौद्र रूप की चपेट में आ गया। हुआ यूं कि पिछले माह चंबल नदी में कोटा बैराज के 13 साल बाद सभी गेट खोलकर 6.50 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से चंबल नदी खतरे के निशान को पार कर गई थी।

स्थिति इतनी बिगड़ गई थी कि कई गांव जलमग्न हो गए। मकान तक डूब गए हैं। दहशत के चलते तटवर्ती गांवों के लोग अपना घर-वार छोड़कर सुरक्षित स्थान पर जा पहुंचे थे। लोगों ने जैसे तैसे अब होश संभाला तो शिव मंदिर की ओर ध्यान आकर्षित हुआ। चंबल की बाढ़ में शिव मंदिर के ऊपर करीब 20 फीट की बजरी की चादर आ जमी। जिससे शिव परिवार भगर्भित हो गया।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/ZxIOQQAA

📲 Get Jaipur News on Whatsapp 💬