जागरूकता के अभाव में लोग हो रहे मधुमेह के शिकार

  |   Maunews

मऊ। विश्व मधुमेह दिवस पर शुगर के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए गुरुवार को सीएमओ कार्यालय में संगोष्ठी का आयोजन किया गया। वहीं जिला अस्पताल सहित पांच सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें 531 मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया।

कई ऐसे लोग मिले जो शुगर के मरीज निकले, लेकिन उन्हें इसकी जानकारी नहीं थी। इनको शुगर से बचाव के लिए टिप्स दिए गए। सीएमओ कार्यालय के सभागार में गुरुवार को विश्व मधुमेह दिवस पर संगोष्ठी आयोजित हुई। संगोष्ठी को संबोधित करते हुए सीएमओ डॉ. सतीशचंद्र सिंह ने कहा कि मधुमेह की बीमारी लोगों को धीरे धीरे अपने चपेट में ले रही है। युवा वर्ग भी बदले दिनचार्या, खानपान में सतर्कता ना बरतने और जागरूकता के अभाव में इसकी चपेट में आ रहा है। नोडल अधिकारी डॉ. पीके राय ने शुगर के लक्षणों के बारे में जानकारी देते हुए उससे बचाव के बारे में जानकारी दी। संगोष्ठी में डॉ.आरके झा, डॉ. यूसुफ खान, दुर्गाप्रताप सिंह, वीरेंद्र यादव आदि ने भी अपने विचार रखे। विश्व मधुमेह दिवस पर जिला अस्पताल के अलावा कोपागंज, घोसी, दोहरीघाट, परदहा, मुहम्मदाबाद गोहना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर नॉन कम्यूनिकेबिल डिसिज क्लीनिक द्वारा स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में डायबिटीज, हाइपर टेंशन एवं बीएमआई जांच की गई। शिविर में 531 मरीजों की जांच की गयी। शिविर में डायबटीज के 30 से ज्यादा मरीज मिले। इस दौरान पंजीकृत मरीजों की जांच में पाया गया कि पुरुषों के सापेक्ष महिलाओं में डायबीटीज की मात्रा अधिक पायी गई। इस मौके पर डॉ. एके रंजन, डॉ. आदित्य राय, धर्मेद्र गिरी, राधेश्याम, बेबी, संगीता यादव, जागृति सिंह, रीता आदि मौजूद रहीं।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/AKgDhQAA

📲 Get Mau News on Whatsapp 💬