जानिए क्यों दी जा रही इस लाईवलीहुड कॉलेज को सफेद हाथी की संज्ञा, पहले वर्ष 3372 को प्रशिक्षण, इस साल जीरो

  |   Jagdalpurnews

अमित मुखर्जी/जगदलपुर. कौशल उन्नयन के द्वारा बेरोजगारों को स्वरोजगार का सपना दिखाने वाली लाइवलीहुड परियोजना अब बदली हुई परिस्थितियों में कारगर साबित नहीं हो पा रही है। सरकार बदलने के बाद प्रशासन ने इस परियोजना की गाइडलाइन बदल दी है। नई शर्तों के लागू होने के कारण इस वर्ष पिछले नौ माह से लाइवलीहुड में एक भी वीटीपी का पंजीयन नहीं हुआ है। आलम यह है करोड़ों की लागत से आड़ावाल में बने लाइवलीहुड कॉलेज में जहां पहले भारी चहलपहल हुआ करती थी, अब वहां सन्नाटा पसर गया है। यहां पदस्थ कर्मचारी व प्रशिक्षक अब दिन भर खाली बैठे नजर आते हैं। जबकि वेतन एवं अन्य मामलों में अब भी कॉलेज पर प्रतिमाह लाखों रुपए खर्च हो रहे हैं, लेकिन अपेक्षित नतीजे नहीं मिल रहे हैं। कुल मिलाकर नए परिवेश में लाइवलीहुड कॉलेज अब सरकार के लिए सफेद हाथी साबित होता जा रहा है।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/woExrAAA

📲 Get Jagdalpurnews on Whatsapp 💬