जनता को कन्फ्यूज कर रहा बिल, अधिकारियों को पता ही नहीं

  |   Jaipurnews

केस 01

रामगढ़ मोड़ निवासी दयाशंकर गुप्ता के घर जब बिजली का बिल आया तो वे इसे देखकर दंग रह गए। तीन हजार रुपए तो विद्युत उपभोग के थे। इसके अलावा 901 रुपए जलसंरक्षण उपकर के सामने लिखे हुए थे। वे इसे लेकर बिजली विभाग के दफ्तर पहुंचे तो बिलिंग की गलती मानी।

केस 02

वैशाली नगर ई-ब्लॉक निवासी पूरन जायसवाल बिल को अव्यवस्थित देखकर परेशान हो गए। जल संरक्षण उपकर के 1200 रुपए लिखे थे। कई दिन तक परेशान होते रहे और जब बिल भरने गए तो पैनल्टी लग गई। विद्युत विभाग की लापरवाही का खामियाजा पैनल्टी देकर चुकाना पड़ा।

जयपुर। शहर के बिजली उपभोक्ताओं को बिजली का बिल कन्फ्यूज कर रहा है। स्पॉट बिलिंग में लापरवाही की वजह से उपभोक्ता बिल भरने की बजाए पहले विद्युत विभाग के दफ्तर में चक्कर काट रहे हैं। जब यहां विभाग के कर्मचारी बिलिंग में दिक्कत बताते हैं, तब जाकर उपभोक्ता चैन की सांस लेते हैं। अधीक्षण अभियंता एसके राजपूत को इस बारे में कोई जानकारी ही नहीं है। उनका कहना है कि मेरे पास कोई इस तरह की शिकायत ही नहीं आई।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/4ujkOwAA

📲 Get Jaipur News on Whatsapp 💬