जिले के तीनों विधायक सत्ता पक्ष से, फिर भी हाथ खाली

  |   Fatehabadnews

फतेहाबाद। इस बार मनोहर सरकार के दूसरे कार्यकाल में मंत्रिमंडल विस्तार में फतेहाबाद जिले के हाथ खाली ही रहे हैं। मौजूदा राजनैतिक परिस्थितियों में जिले के तीनों विधायक सत्तापक्ष से जुड़े हैं। रतिया से विधायक लक्ष्मण नापा एवं फतेहाबाद के विधायक दुड़ाराम तो बीजेपी के हैं जबकि टोहाना में जननायक जनता पार्टी से देवेंद्र सिंह बबली विधायक हैं जो बीजेपी के गठबंधन सहयोगी हैं। तीनों विधायक सत्तापक्ष के होने के बावजूद किसी भी विधायक को कैबिनेट की बर्थ क्यों नहीं मिली, ये चर्चा वीरवार को सारा दिन राजनैतिक गलियारों में चलती रही।

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री एवं जजपा सुप्रीमो दुष्यंत चौटाला खुद जाट समुदाय से आते हैं। ऐसे में उनके द्वारा उपमुख्यमंत्री बनते ही ये तय हो गया था कि जजपा के कोटे से कोई और जाट नेता अब मंत्री पद की शपथ नहीं ले सकेगा। इसका सबसे अधिक खामियाजा टोहाना के विधायक देवेंद्र सिंह बबली को ही भुगतना पड़ा है। बबली ने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष एवं दिग्गज नेता सुभाष बराला को विस चुनाव में चारों खाने चित्त किया है जिसके बाद उन्हें बड़ा पद मिलने की उम्मीद थी। सूत्रों की मानें तो बबली को मंत्री बनाने के प्रस्ताव पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने भी वीटो लगा दिया था।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/d763EQAA

📲 Get Fatehabad News on Whatsapp 💬