जिस वार्ड में नहीं होते पार्षद उस इलाके का होता है कुछ ऐसा हाल, जानिए क्यों बनी ऐसी स्थिति

  |   Jagdalpurnews

जगदलपुर. मदन मोहन मालवीय वार्ड नंबर ४५ में हर क्षेत्र में गंभीर समस्याएं हैं। यहां पेयजल से लेकर सडक़, नाली और बिजली तक की समस्या है। शहर के हृदय स्थल में होने के बाद भी वार्ड का बड़ा इलाका ऐसे अंदरूनी इलाके जहां बुनियादी सुविधा सरकार न पहुंचा पा रही हो, की तरह रहने को मजबूर हैं। हालांकि इसके पीछे की बड़ी वजह वार्ड में पार्षद का न होना भी है। ऐसे में इस वार्ड के लोगों के लिए निकाय चुनाव और भी महत्वपूर्ण हो जाता है।

पार्षद ने स्टॉफ नर्स नौकरी के बाद छोड़ी जिम्मेदारी

पार्षद के तौर पर यहां की जिम्मेदारी मनीषा साव के हाथ में थी। लेकिन करीब ८ महीने पहले उनकी नौकरी बतौर स्टॉफ नर्स लग गई। जिसके बाद उन्होंने पार्षद की जिम्मेदारी से इस्तीफा दे दिया। यही वजह रही की इसके बाद वार्ड का विकास रूक गया। यहां सडक़, बिजली, पानी और अन्य विकास के लिए लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। इतना ही नहीं अपनी मांगों के लिए वह किसके पास जाएं, यह समझ नहीं आ रहा। इसलिए उनकी निगाहेंं अब निकाय चुनाव पर हैंं।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/_-ZfGAAA

📲 Get Jagdalpurnews on Whatsapp 💬