ट्रेक्टर लोन की अंश पूंजी वापस करने रिश्वत लेने वाले बैंक मैनेजर को चार साल की सजा

  |   Rewanews

शहडोल/रीवा . ट्रेक्टर लोन की अंश पूंजी वापस करने के एवज में रिश्वत लेने वाले बैंक मैनेजर को न्यायालय ने चार साल की सजा सुनाई है। संभागीय जनसंपर्क अधिकारी नवीन कुमार वर्मा के अनुसार, प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश (विशेष न्यायाधीष भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988) के द्वारा सुरेश प्रताप सिंह निवासी सेमरिहा रीवा को चार साल की सजा सुनाई है। रामस्वरूप वैश्य ११ अगस्त २०१५ को लोकायुक्त रीवा जाकर में शिकायत दर्ज कराई कि 1998 में ट्रेक्टर, भूमि विकास बैंक शाखा ब्यौहारी के माध्यम से फाइनेंस कराया था। ट्रेक्टर की सारी किश्ते जमा कर दी थी। लोन फाइनेंस कराते समय जमा की गई अंश की पूंजी 8 हजार वापस करने के लिए बैंक में करीब 3-4 माह पहले आवेदन दिया था, लेकिन अंश पूंजी की राशि बैंक द्वारा वापस नहीं की गई। आरोपी एसपी सिंह बैंक के प्रभारी शाखा प्रबंधक ने वापस करने के एवज में दो हजार की मांग की थी। बैंक मैनेजर पहले ही एक हजार रुपए ले चुका था। शिकायत सही होने पर लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी के खिलाफ न्यायालय में चालान पेश किया था। अभियोजन की ओर से पैरवी कविता कैथवास ने की।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/ofxOJQAA

📲 Get Rewa News on Whatsapp 💬