नई पीढ़ी को अयोध्या आंदोलन का पूरा इतिहास बताएगी किताब

  |   Lucknownews

'यदि राष्ट्र की धरती छिन जाए तो शौर्य उसे वापस ला सकता है, यदि धन नष्ट हो जाए तो परिश्रम से कमाया जा सकता है, यदि राजसत्ता छिन जाए तो पराक्रम उसे वापस ला सकता है परंतु यदि राष्ट्र की चेतना सो जाए, राष्ट्र अपनी पहचान खो दे तो कोई भी शौर्य, श्रम या पराक्रम उसे वापस नहीं ला सकता। इसी कारण भारत के वीर सपूतों ने भीषण, विषम परिस्थितियों में, लाखों अवरोधों के बाद भी राष्ट्र की इस चेतना को जगाए रखा। इसी चेतना और पहचान को बचाए रखने का प्रतीक है, श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण का संकल्प...

ये उस किताब के शुरुआती वाक्य हैं जिसे विहिप ने देश की नई पीढ़ी के बीच बंटवाने के लिए मार्च 2010 में छपवाया था। पर, तब दौर मंदिर निर्माण के संघर्ष का ही था। किताब छपने तक न उच्च न्यायालय की लखनऊ खंडपीठ का और न ही सर्वोच्च न्यायालय का फैसला आया था।...

फोटो - http://v.duta.us/YN_X_gAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/ms-YvAAA

📲 Get Lucknow News on Whatsapp 💬