नंदीशाला में पहुंचा तीन क्विंटल हरा चारा, चोकर अब भी अपर्याप्त

  |   Shahjahanpurnews

शाहजहांपुर। लावारिस गायों को गोशालाओं में रखवाने के बाद उनकी देखभाल और खान-पान का सही इंतजाम नहीं हो रहा। शासन से रुपया मिलने के बाद भी गोशालाओं में रहने वाली गायों के लिए हरा चारा और भूसा नहीं मिलता। बीमारी से रोज ही एक-दो गायों की मौत हो रही है। गायों की इस दुर्दशा को लेकर अमर उजाला ने गुरुवार को खबर प्रकाशित की थी। जिसका असर शहर की नंदीशाला में दिखाई दिया है, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों की गोशालाओं में कोई प्रभाव नहीं पड़ा।

गुरुवार को अमर उजाला ने एक बार फिर उन गोशालाओं का जायजा लिया, जहां बुधवार को हरा चारा और भूसा नहीं था। पुवायां रोड स्थित नगर निगम की नंदीशाला में गुरुवार को तीन क्विंटल हरा चारा पहुंच गया। नंदीशाला के कर्मचारियों के मुताबिक भूसा के साथ हरा चारा और चोकर भी मिलाकर सांडों को दिया गया। जिस नंदी के पैर में जख्म है, उसको भी खाने को चारा और पानी दिया गया, लेकिन कोई उसके उपचार के लिए नहीं पहुंचा। नंदीशाला में एक बोरी चोकर ही उपलब्ध था, जबकि 117 गोवंश इस समय वहां पर हैं।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/qG-qIwAA

📲 Get Shahjahanpur News on Whatsapp 💬