नाबालिग से बलात्कार करने वाले चाचा को दस साल का कारावास

  |   Gwaliornews

विशेष न्यायाधीश पाक्सो एक्ट अर्चना सिंह ने आरोपी दीनदयाल पुत्र श्यामलाल अहिरवार निवासी ग्राम मातौर थाना कुडीला जिला टीकमगढ को पाक्सो एक्ट की धारा ५/६ के अपराध में दोषी पाते हुए उक्त सजा सुनाई। इसके अलावा आरोपी को भादसं की धारा ४५० के अपराध में भी दोषी पाते हुए तीन साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है।

अतिरिक्त जिला अभियोजन अधिकारी अनिल कुमार मिश्रा ने प्रकरण की जानकारी देते हुए बताया कि फरियादी ने एक आवेदन थाना प्रभारी थाना पलेरा जिला टीकमगढ को दिया कि वह एक माह पहले अपनी पत्नी व बच्चों के साथ ग्वालियर में मजदूरी करने गया था। आदित्यपुरम में प्रेम एजेंसी के पास वह झुग्गी बनाकर रहता था। वहीं पास में थोडी दूरी पर उसका रिश्तेदार दीनू उर्फ दीनदयाल रहता था। जिसकी उम्र २६ साल के करीब थी। वह उसकी झुग्गी में आता जाता और उसके पास बैठता था। इस कारण उसके बच्चे उसे पहचानते थे। ७ जुलाई १७ को सुबह नौ बजे जब वह मजदूरी करने के लिए गया था और घर पर अपने छोटे लडक़े व बेटी को छोड गया था। जब शाम को वह वापस आया तो पीडिता ने रोकर बताया कि चाचा दीनू भइया को भगा दिया था और उसरने उसके साथ बलात्कार किया। जब उन्होंने आरोपी का पता लगाया तो पता चला की वह अपने गांव भाग गया था। पीडि़ता के पिता ने गांव जाकर अपने पिता को बताया तो उसने घटना की रिपोर्ट पलेरा थाना टीकमगढ में की, इस पर जीरो पर कायमी कर प्रकरण को महाराजपुरा ग्वालियर क्षेत्र का प्रकरण होने के कारण यहां भेजा गया। पुलिस ने मामले की जांच के बाद आरोपी के खिलाफ चालान पेश किया था।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/d6NM4wAA

📲 Get Gwalior News on Whatsapp 💬