नियमित हुए कर्मचारियों का अभी नहीं कट रहा फंड

  |   Kangranews

पालमपुर (कांगड़ा)। प्रदेश संयुक्त मोर्चा ने अब खाते से कटने वाले भविष्य निधि फंड को लेकर सवाल उठाए हैं। मोर्चा का कहना है कि जब भी किसी कर्मी को नियमित किया जाता है तो उसकी इनकम का 10 फीसदी हिस्सा उस कर्मचारी के भविष्य निधि खाते में जमा होता है। जबकि, पुरानी पेंशन व्यवस्था में यह कर्मचारी के नियमित होते ही कटना शुरू हो जाता था। जब से नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) वाला सिस्टम शुरू हुआ है तब से इनकम का यह 10 फीसदी हिस्सा कुछ विभागों में तो कट रहा है लेकिन कुछ विभाग ऐसे भी है जहां 2015 में नियमित हुए कर्मचारी के बावजूद यह दस फीसदी हिस्सा कटना शुरू नहीं हुआ है। मोर्चा के प्रदेश संयोजक प्रवीण शर्मा, प्रदेश सह संयोजक कुलदीप चंद, राष्ट्रीय मीडिया सचिव रजिंद्र स्वदेशी और कांगड़ा इकाई के संयोजक अरुण कानूनगो, सह संयोजक रविंद्र कुमार और मीडिया सचिव संजय कुमार ने बताया कि जिला परिषद कैडर पंचायती विभाग हिमाचल में करीब 1100 पंचायत सचिव 2015 में नियमित हुए हैं लेकिन अभी तक इन कर्मचारियों का कोई भी पैसा भविष्य निधि खाते में नहीं कट रहा है, जो एनपीएस सिस्टम की नाकामयाबी का नया कारनामा है। एनपीएस के तहत कटने वाले फंड के खिलाफ पूरे देश के कर्मचारी हैं। कहा कि नियमित होने वाले जिन कर्मचारियों का आज तक यह फंड कटा ही नहीं है, इससे यह साबित होता है कि एनपीएस के तहत कटने वाला फंड जरूरी नहीं है और कुछ विभागों के कर्मचारियों से यह जबरदस्ती काटा जा रहा है। सरकार से आग्रह है कि 2015 में नियमित हुए करीब 1100 पंचायत सचिवों को मुख्य धारा में डाला जाए।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/CyLnMgAA

📲 Get Kangra News on Whatsapp 💬