पश्चिम चंपारण के रवि प्रकाश को ब्राजील में मिला 'ब्रिक्स-यूथ इनोवेटिव अवॉर्ड'

  |   Muzaffarpurnews

मुजफ्फरपुर : पश्चिम चंपारण के एक छोटे से गांव हरसरी के युवा रवि प्रकाश ने दुनिया में भारत का सिर ऊंचा किया है. रवि प्रकाश ने 25,000 डॉलर (करीब 18 लाख रुपये) का 'ब्रिक्स-यूथ इनोवेटिव अवॉर्ड' जीता है. आइसीएआर-नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (एनडीआरआइ) के पीएचडी छात्र रवि को यह पुरस्कार कच्चा दूध को अत्यधिक ठंडा करने वाली स्वदेशी तकनीक के आविष्कार के लिए मिला है. रवि के नैनो फ्ल्यूड बकेट आविष्कार की कहानी 'प्रभात खबर' ने एक अगस्त, 2019 को पहले पेज पर प्रकाशित की थी. इस बकेट में दूध रखने पर महीनों खराब नहीं होता है.

रवि प्रकाश चौथे ब्रिक्स- युवा वैज्ञानिक मंच, 2019 के लिए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से ब्राजील भेजे गये 21 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा थे. विभाग ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि मंच में भारत ने 25,000 डॉलर का प्रथम पुरस्कार जीता. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, 'भारत ने ब्राजील में छह से आठ नवंबर, 2019 के दौरान ब्रिक्स युवा वैज्ञानिक मंच के सम्मेलन में प्रथम पुरस्कार जीता....

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/q6EKPQAA

📲 Get Muzaffarpur News on Whatsapp 💬