बालश्रम रेस्क्यू पकड़े बच्चों को रखने में भी राजनीति, गड़बडिय़ों पर भी विभाग की मेहर

  |   Udaipurnews

मोहम्मद इलियास/उदयपुर

चिकलवास स्थित मनु सेवा संस्थान के ओपन शेल्टर होम में चल रही गड़बडिय़ां का खुलासा पूर्व में होने के बावजूद बाल अधिकारिता विभाग की इतनी मेहरबानी रही है कि उन्होंने इसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। नतीजतन तीन मंजिल में संचालित संस्थान के दो मालों पर ताला लग गया और महज यह एक मंजिल में संचालित होकर पूरी तरह 'कैदखाना' बन गया। इसका प्रत्यक्ष उदाहरण चार दिन पूर्व शेल्टर किए गए 24 बाल श्रमिकों को एक छोटे से कमरे में सुलाया गया था।जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने मौक की निरीक्षण की रिपोर्ट हाइकोर्ट भिजवाते हुए विभाग से अब तक संस्थान की ओर से छह साल में बच्चों व बालिका के नाम से उठाई गई अनुदान राशि की विस्तृत तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है। राजस्थान राज्य बाल आयोग ने राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित खबर व हाइकोर्ट से मिली रिपोर्ट के आधार पर तुरंत कार्रवाई करते हुए प्रशासन को जांच के आदेश दिए। इधर, सीडब्ल्यूसी ने दूसरे दिन गुरुवार को फिर से निरीक्षण करते हुए तथ्यात्मक रिपोर्ट बनाई तथा शेल्टर से समस्त 24 बच्चों को रेफर किया। इनमें 19 बच्चों को राजकीय किशोर गृह व 5 बच्चों को जीवन ज्योति निराश्रित गृह भिजवाने का आदेश दिया गया।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/81ZOcQAA

📲 Get Udaipur News on Whatsapp 💬