भगवान गौतम बुद्ध का ननिहाल देवदह देख रहा संवरने की राह

  |   Maharajganjnews

संपूर्ण विश्व सत्य अहिंसा और सद्भाव का संदेश देने वाले भगवान गौतम बुद्ध का ननिहाल देवदह अपनी ऐतिहासिक महत्वों को सहेजने के बाद भी दशकों से संवरने की राह देख रहा है। इधर सूबे में योगी सरकार बनने के साथ देवदह के विकास की उम्मीदें तो बढ़ी लेकिन अबतक कोई आकार नहीं ले पाई हैं। हांलाकि जिला प्रशासन इसे संवारने की कवायद की बात एक बार फिर जोर शोर से कर रहा हैं।

बुद्धकालीन इतिहास में अपनी मजबूत पहचान रखने वाले महराजगंज का देवदह व रामग्राम को लेकर इतिहासकार एकमत हैं कि ये सभी स्थल भगवान बुद्ध से जुड़ा हैं। नौतनवां तहसील के बनरसिया कला और बनरसिया खुर्द में विभक्त है। 1978 में पुरातत्व विभाग ने यहां 88.8 एकड़ भूमि संरक्षित कर किसी भी प्रकार के निर्माण और खनन पर रोक लगा दी। लेकिन बाद के समय संरक्षित भूमि में 20 किसानों के नाम पट्टा और चक नंबर जारी कर दिया गया। ऐसे में अब टिले के नाम मात्र 1.04 एकड़ जमीन बची है।...

फोटो - http://v.duta.us/znw70AAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/gpYsqAAA

📲 Get Maharajganj News on Whatsapp 💬