मौज है, मस्ती है, हंगामा है बालरंग में हमें भी कुछ कर दिखाना है

  |   Chhatarpurnews

छतरपुर। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा जिले की 13 बाल विकास परियोजनाओं के अंतर्गत बाल रंग मेला व विभिन्न कार्यक्रमों और गतिविधियों का आयोजन किया गया। जिले की आंगनवाडी केंद्रों में ड्राईंग, पेंटिंग, ग्रीटिंग कार्ड बनाए गए। इस दौरान बच्चों के द्वारा मिट्टी के खिलौने भी बनाए गए। जिला कार्यक्रम अधिकारी संजय जैन ने बताया कि बाल दिवस के अवसर पर बच्चों द्वारा नाटक, नृत्य, गीत, कविता पाठ का आयोजन, बाल रंग मेला आंगनवाडी केन्द्रों में किया गया। साथ ही कुर्सी दौड, फेंसी ड्रेस, क्विज का आयोजन सम्पूर्ण जिले में किया गया है। वहीं प्रोजेक्टर के माध्यम से भी बच्चों को बाल फिल्में दिखाई गई। सबसे साफ बच्चा बनेगा, मास्टर क्लीन, की तर्ज पर बच्चों में साफ -सफाई व स्वच्छता का प्रचार-प्रसार किया गया। इस दौरान सबसे स्वस्थ बच्चा बनेगा मास्टर हेल्दी की थीम पर सबसे स्वस्थ बच्चों को पुरूस्कृत किया गया। बाल रंग मेला व आंगनवाडी केन्द्रों पर आयोजित विभिन्न प्रतियोगताओं व कार्यक्रमों में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वाले बच्चों को पुरस्कृत किया गया। बाल विकास परियोजना छतरपुर शहरी अंतर्गत वार्ड क्रमांक 3, बाल विकास परियोजना छतरपुर ग्रामीण अंतर्गत ईशानगर में, बाल विकास परियोजना ईशानगर 2 अंतर्गत देरी, बरकौंहा व पडरिया में बाल रंग मेले का आयोजन किया गया। इस अवसर पर इन केन्द्रों पर जिला कार्यक्रम अधिकारी संजय जैन व परियोजना अधिकारी बाल विकास परियोजना छतरपुर शहरी विक्रम सिंह व संबंधित परियोजनाओं के परियोजना अधिकारी उपस्थित रहे।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/6ADO9wAA

📲 Get Chhatarpur News on Whatsapp 💬