राजस्थान निकाय चुनाव में शराब और नोट बांटने पर पुलिस की रहेगी नजर, शराब की दुकानें हुई बंद, मतदान के बाद खुलेंगी

  |   Alwarnews

अलवर. Rajasthan Nikay Chunav : नगर निकाय चुनाव में वोटरों को अपने पक्ष में करने के लिए प्रत्याशी और उनके समर्थक साम दाम और दंड भेद की राजनीति पर उतर आए हैं। चुनाव प्रचार की अंतिम रात पुराने मोहल्लों और कच्ची बस्तियों में प्रत्याशी अपना वोट बैंक बनाने के लिए वोटरों को रुपए, शराब, कम्बल और साड़ी आदि बांट सकते हैं। मतदाताओं को दिए जाने वाले प्रलोभनों की रोकथाम के लिए पुलिस की ओर से विशेष निगरानी रखी जा रही है।

दरअसल, पुराने मोहल्लों और कच्ची बस्तियों में ज्यादातर आबादी मजदूर वर्ग की है। इन परिवारों को चुनावी हार-जीत से ज्यादा मतलब नहीं रहता। जो प्रत्याशी उन्हें लोभ-लालच देता है ये मतदाता उसी के पक्ष में हो जाते हैं। ऐसे वोट बैंक को अपने पक्ष में करने के लिए पुराने मोहल्ले और कच्ची बस्तियों से लगते वार्डों के प्रत्याशियों ने अपनी पूरी तैयारी कर ली है। यहां प्रत्याशी और उनके समर्थक घर-घर जाकर वोटरों को प्रलोभन भी दे रहे हैं। वहीं, कुछ वोटर भी प्रत्याशी को वोट देने के लिए इस तरह की सौदेबाजी कर रहे हैं।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/4_5u6QAA

📲 Get Alwar News on Whatsapp 💬