व्यक्तित्व को निखारने के लिए महापुरुषों का करें अनुसरण

  |   Pannanews

पन्ना. सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के ५५० वें प्रकाश पर्व (जन्मोत्सव) पर नगर के कन्या महाविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन हुआ। इसमें अतिथियों ने स्वयं के व्यक्ति को निखारने के लिए महापुरुषों का अनुसरण करने की सीख दी।

शासकीय कन्या महाविद्यालय पन्ना में व्यक्तित्व विकास प्रकोष्ठ के अंतर्गत गुरू नानक के विचारों पर कार्यक्रम में मुख्य अतिथि समाजसेवी आशीष बोस रहे। अध्यक्षता संस्था प्राचार्य डॉ. गिरिजेश शाक्य ने की। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बोस ने कार्यक्रम में गुरू नानक देव के विचारों पर प्रकाश डाला ।

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. गिरिजेश शाक्य ने छात्राओं से कहा, अपने व्यक्तित्व को प्रकाश मय बनाने के लिए महापुरूषों का अनुसरण करें । इसके माध्यम से व्यक्तित्व विकास के साथ समाज और राष्ट्र का विकास संभव नहीं है। महापुरुषों का अनुसरण किया जाना जरूरी है। नरेश कुमार पटेल ने गुरु नानक देव के जीवन से जुड़े कुछ विशेष पहलुओं पर प्रकाश डाला । उन्होंने समाज के लिए उनके बलिदान को भी याद किया। इसके साथ अन्य वक्ताओं ने भी प्रकाश पर्व के संबंध में जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन प्राध्यापक विवेक कुमार मिश्रा ने किया । आभार डॉ. अजय कुमार खरे ने माना। कार्यक्रम में कॉलेज के सहायक प्राध्यापक डॉ. प्राची श्रीवास्तव , दिनेश कुमार यादव , समस्त अधिकारी, कर्मचारी एवं छात्राएं उपस्थित रहे।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/khMRrQAA

📲 Get Panna News on Whatsapp 💬