संतुलित भोजन, नियमित व्यायाम से दूर हो सकता है मधुमेह

  |   Sonebhadranews

सोनभद्र। विश्व मधुमेह दिवस पर जिला संयुक्त चिकित्सालय में गोष्ठी बृहस्पतिवार को हुई। अध्यक्षता मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. शशिकांत उपाध्याय ने किया। यहां उन्होंने कहा कि मधुमेह धीरे-धीरे महामारी का रूप लेती जा रही है। जिसका मुख्य कारण असंतुलित आहार एवं अनियमित दिनचर्या है। उन्होने बताया कि संतुलित भोजन एवं नियमित व्यायाम से मधुमेह को दूर किया जा सकता है। इस संबंध में अभी भी लोगों में जानकारी का अत्यन्त अभाव है। हम सभी की जिम्मेदारी है कि लोगो को मधुमेह के लक्षण एवं उपचार के विषय में लोगो को जागरूक करें। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. पीबी गौतम ने कहा कि करीब हर घर में लोग मधुमेह रोग से ग्रसित हो रहे है। अगर इसे अभी नहीं रोका गया तो निश्चित तौर पर यह महामारी का रूप ले लेगा। आनुवंशिक मधुमेह और भी खराब है। इसलिए लोगों को आने वाली पीढ़ी का खयाल रखते हुए अभी से खानपान और नियमित दिनचर्या पर ध्यान देना चाहिए। डॉ. गणेश प्रसाद ने बताया कि रेडीमेड एवं वसायुक्त भोजन, शराब व तंबाकू का सेवन तथा शारीरिक निष्क्रियता मधुमेह के प्रमुख कारणों मे से एक है। उन्होने इसके बचाव हेतु सुझाव भी दिये एवं अवगत कराया कि जिला संयुक्त चिकित्सालय सोनभद्र के कमरा नंबर 14 में प्रत्येक दिन शुगर एवं ब्लड प्रेशर का जॉच तथा उपचार किया जाता है। इस दौरान डॉ. पीके सिंह, डॉ. सुरेश कुमार वर्मा, डॉ. डीके सिंह, डॉ. केके सिंह, डॉ. एपी वर्मा, डॉ. प्रशांत शुक्ला, डॉ. राजेंद्र, जिला कार्यक्रम प्रबंधक रिपुंजय श्रीवास्तव के साथ-साथ चिकित्सालय के समस्त चिकित्सक एवं कर्मचारी उपस्थित रहें।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/7wuPlQAA

📲 Get Sonebhadra News on Whatsapp 💬