समाज और देश को समर्पित रहा गुरु नानक देव का जीवन

  |   Katninews

कटनी. सतगुरू गुरूनानक देव का 550वां जन्मदिवस प्रकाशोत्सव के रूप में 12 नवंबर को जिलेभर में धूमधाम से मनाया गया। बरही रोड स्थित गुरूद्वारे में मत्था टेकने सुबह से ही सिक्ख धर्मावलंबी पहुंचे। यहां आकर्षक विद्युत साज सज्जा की गई है। यहां मंगलवार को पूरे दिन धार्मिक आयोजन होते रहे।

गुरूनानक देवजी के प्रकाश उत्सव पर्व पर आज बरही रोड स्थित गुरूद्वारे में हजूरी रागी जत्थे द्वारा शबद कीर्तन गुरूवाणी की प्रस्तुतियां दी गईं। इसके बाद आनंद साहिब, अरदास और हुकमनामा तथा प्रसाद वितरण किया गया और गुरू का लंगर वितरित किया गया।

गुरुनानक देवजी के बारे में धर्म गुरुओं ने बताया कि उनका जीवन समाज और देश को समर्पित रहा। उन्होंने अपना सारा जीवन उस वक्त समाज में व्याप्त कुरीतियों और बुराईयों को हटाने में बीता दिया। समाज में फैले हुए अंधविश्वास से लड़ते हुए उनको यह महसूस हुआ कि आडंबरों से हटकर देश को एक नए धर्म की जरूरत है तो उन्होंने सिख धर्म की स्थापना की। उन्होंने देश को एक नई समावेशी विचारधारा के साथ चलाने की कोशिश की और लोग उनके साथ जुड़ते चले गए। गुरुनानकदेवजी ने कई देशों की यात्रा की और लोगों को उपदेश दिए।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/QohJGwAA

📲 Get Katni News on Whatsapp 💬