सरकारी दावों की पोल खोल रही है श्रीकृष्ण गौशाला, इस वजह से 2 दिन भूखे रहते हैं पशु

  |   Biharnews

जहानाबाद. राज्य सरकार सूबे की सभी गौशालाओं (Gaushalas) के बेहतर रख रखाव का दावा करती है, लेकिन 100 वर्ष पूर्व से संचालित जहानाबाद (Jehanabad) की श्रीकृष्ण गौशाला (Shri Krishna Gaushala) सरकारी दावों से अलग है. यह गौशाला में खुद स्थानीय लोगों द्वारा दिये गए दान और इकट्ठे किये गए चंदे से संचालित हो रही है. पिछले वर्ष तकरीबन 35 गौवंश की मौत की गवाह बनी इस गौशाला में कभी-कभी चंदे की राशि इकट्ठी न होने या फिर दान न मिलने से गायों (Cows) को भी दो-दो दिनों तक भूखा रहना पड़ता है.

ऐसी है श्रीकृष्‍ण गौशाला

जहानाबाद का श्री कृष्ण गौशाला दो एकड़ में फैली हुई है, जिसमें तकरीबन 90 की संख्या में गाय, बैल और भैंस मौजूद हैं, लेकिन इतनी संख्या में पशुओं को रखने के लिए यहां व्यवस्था मौजूद नहीं है. फिलहाल पूरी तरह से आम लोगों द्वारा चंदे की रकम से यहां रहने वाले पशुओं के खाने और रहने का इंतजाम किया जाता है. गौशाला के व्यवस्थापक मयंक मौलेश्वर (उपाध्यक्ष, श्रीकृष्ण गौशाला) ने बताया कि सरकार द्वारा गौशाला के विकास के लिए तकरीबन 20 लाख रुपये दिए गए हैं, लेकिन इन पैसे का उपयोग सिर्फ विकास कार्यों में करना है ना कि मवेशियों के रख रखाव पर....

फोटो - http://v.duta.us/OPhhdwAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/CfgJQQAA

📲 Get Bihar News on Whatsapp 💬