हिमाचल में बनी 13 दवाओं के सैंपल फेल, रद्द होंगे फार्मा कंपनियों के लाइसेंस

  |   Himachal-Pradeshnews

शिमला. हिमाचल में बन रही कई जीवन रक्षक दवाएं (Life Saving Drugs) घटिया क्वालिटी की पाई गई है. केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रक संगठन ने पूरे देश में 1163 दवाइयों के सैंपल लिए थे, जिसमें 35 दवाएं सब स्टैंडर्ड पाई गई हैं. इनमें हिमाचल (Himachal) की फार्मा कंपनियों (Pharma Companies) ने बनाई 13 दवाएं (Medicines) भी शामिल हैं. दवाओं के सैंपल फेल होने के बाद हिमाचल में अलर्ट जारी किया गया है. ये शूगर, बीपी, हर्ट जुड़ी दवाएं (Medicines) हैं.

यह बोले स्वास्थ्य मंत्री

स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार (Health Minister Vipen Singh Parmar) ने ऐसे सभी फार्मा उद्योगों के कार्रवाई के सख्त आदेश दिए हैं. जिन कंपनियों की दवाएं घटिया पाई गई हैं, उनके लाइसेंस रद्द करने के अलावा कानूनी कार्रवाई भी अमल में लाने को कहा है. स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने न्यूज-18 के साथ कहा कि ऐसी सभी कंपनियां ब्लेकलिस्ट की जा रही हैं और भविष्य में इनकी दवाएं मार्केट में नहीं आएंगी. जो दवाएं मार्केट में हैं उन्हें भी वापस लेने को कहा गया है. सरकार की ओर से खरीदी जाने वाली दवाओं के लिए भी इन कंपनियों के साथ टेंडर प्रक्रिया के दौरान रेट कांट्रेक्ट नहीं किए जाएंगे. यानी सरकार ने इनसे अब दवाएं खरीदने से हाथ पीछे खींच लिए हैं....

फोटो - http://v.duta.us/IT8YCQAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/XOsGNwAA

📲 Get himachal-pradeshnews on Whatsapp 💬