हर महीने 212 लोगों को काट रहे कुत्ते, फिर भी न हो रही नसबंदी न धरपकड़

  |   Sheopurnews

श्योपुर. शहर सहित जिलेभर में आवारा कुत्तों का आतंक दिनोदिन बढ़ता जा रहा है। जबकि निचली अदालतों से लेकर देश की सर्वोच्च न्यायालय तक सरकार को कुत्तों की धर-पकड़ एवं उनके आतंक से जनता को राहत दिलाने का फैसला सुना चुकी है। बावजूद इसके, न तो आवारा कुत्तो की नसबंदी कराई जा रही है और न ही कुत्तों की धर-पकड़ के लिए कोई कदम उठाए जा रहे हैं। परिणामस्वरुप जिले में हर महिने औसतन 212 लोग कुत्तों का शिकार होकर अस्पताल पहुंच रहे हैं। इसके बाद भी जिले के जिम्मेदार इस दिशा में कोई गंभीरता नहीं दिखा रहे है।

दरअसल आवारा कुत्तों की धरपकड़ को लेकर जिले में कोई अभियान नहीं चला है। जिस कारण आवारा कुत्तों की संख्या बढ़ती जा रही है। ये आवारा कुत्ते झुंड में घूमकर लोगों पर हमला करने से नहीं चूक रहे है। तीन दिन पहले शहर के वार्डक्रमांक 10 में एक बच्चे को कुत्तो के झुंड ने हमला कर जख्मी कर दिया। जबकि इसके पहले भी कुत्तों के हमले की कई घटनाए शहर सहित जिलेभर में घटित हो चुकी है। ऐसे में लोग दहशत में आकर अपने बच्चों को घर से नहीं निकलने दे रहे है। ये आवारा कुत्ते गोवंश को भी आए दिन हमला कर जख्मी रहे है। इसके बावजूद न तो नगर पालिका आवारा कुत्तों को पकडऩे में दिलचस्पी दिखा रहा और न ही संबंधित विभागीय अमला कोई ध्यान दे रहा है।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/ClkmUwAA

📲 Get Sheopur News on Whatsapp 💬