10 लीटर पेट्रोल से तीन बार में जलाया था धर्मेंद्र का शव, फिर जलाईं थीं अगरबत्तियां

  |   Agranews

किरावली तहसील के कर्मचारी धर्मेंद्र तिवारी की अपने घर में हत्या करने के बाद तीनों आरोपी उसके शव के साथ छह दिन तक रहे। दस लीटर पेट्रोल लाकर शव को तीन दिन में थोड़ा-थोड़ा फूंका।

बदबू को रोकने के लिए 700 रुपये की अगरबत्ती जलाडालीं। घर में रखी धूपबत्ती भी लगातार जलती रही। पड़ोसियों को भनक न लगने पाए, इसके लिए सुबह-शाम तेज आवाज में टीवी पर आरती चलाते थे।

अपनी बर्बरता की जानकारी हत्यारोपी ललित किशोर भदौरिया, उसके चचेरे भाई अरुण मेंगोलिया, मां शलिनी ने पुलिस पूछताछ में दी है। पुलिस ने बताया कि अछनेरा निवासी धर्मेंद्र तिवारी का अपहरण ललित और अरुण ने 50 लाख रुपये की फिरौती के लिए किया था।...

फोटो - http://v.duta.us/_qIdqwAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/h089iwAA

📲 Get Agra News on Whatsapp 💬