1700 किमी प्रति सेकंड की गति से मिल्की-वे से बाहर निकल रहा तारा

  |   Jaipurnews

कैनबरा. खगोल वैज्ञानिकों ने 1700 किमी प्रति सेकंड से भी ज्यादा की गति से एक तारा आकाशगंगा मिल्की-वे से बाहर जाते हुए देखा है। यह घटना आकाशगंगा के केंद्र में बेहद विशाल ब्लैकहोल से टक्कर के बाद हुई।

यह तारा इतनी तेजी से आगे बढ़ रहा है कि करीब 100 मिलियन वर्षों में मिल्की वे से बाहर निकल जाएगा और अपने जीवन के बाकी हिस्से को इंटरगैलेक्टिक स्पेस में अकेले बिताएगा। हालांकि 30 साल पहले भविष्यवाणी की गई थी कि ब्लैकहोल तारों को अभूतपूर्व गति से आकाशगंगा से बाहर निकाल सकते हैं। यह पहली बार है, जब इस तरह की घटना दर्ज की गई है। ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी, कैनबरा के खगोलशास्त्री प्रो. गैरी दा कोस्टा ने कहा है कि पांच मिलियन वर्ष पहले यह तारा बाइनरी स्टार सिस्टम का हिस्सा था, जो मिल्की-वे के केंद्रीय ब्लैकहोल स्थित सैजिटेरियस ए-स्टार के करीब था।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/04KrLgAA

📲 Get Jaipur News on Whatsapp 💬