8 राज्यों को हरी सब्जियां खिलाने वाले मैहर में आज तक नहीं बनी एक सब्जी मंडी, हर दिन 585 मीट्रिक टन का है कारोबार

  |   Satnanews

सतना। हर रोज 585 मीट्रिक टन सब्जियों का उत्पादन कर देश के आठ राज्यों की थाली में सब्जियां परोसने वाला सतना दो दशक से सरकारों की उपेक्षा का दंश झेल रहा है। प्रदेश में ए ग्रेड करेले के सबसे बड़े उत्पादक जिले के मैहर ब्लॉक की स्थिति यह है कि यहां फूड प्रोसेसिंग इकाई खुलना तो दूर, प्रशासन एक अदद सब्जी मंडी तक नहीं खोल पाया। प्रतिवर्ष दो लाख मीट्रिक टन सब्जियों का उत्पादन करने वाले जिले के किसान सड़क किनारे अढ़तियों को मनमानी दाम पर अपनी उपज बेचने को मजबूर हैं। ए ग्रेड करैला एवं टमाटर उत्पादन के लिए देशभर में प्रसिद्ध मैहर क्षेत्र के किसान प्रतिदिन लाखों रुपए की सब्जी पैदा करते हैं। लेकिन, क्षेत्र में सब्जी मंडी न होने के कारण उन्हें उनकी उपज का उचित दाम नहीं मिल पाता। सब्जी का पूरा कारोबार अढ़तियों के कब्जे में है।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/H_cRNgAA

📲 Get Satna News on Whatsapp 💬