यातायात व्यवस्था का ताना-बाना

  |   Bhadohinews

ज्ञानपुर। जिले की सड़कों पर ऑटो चालकों की मनमानी लोगों के लिए मुश्किलों का सबब बन चली है। लबे रोड गाड़ी खड़ी कर सवारियों को चढ़ाना, भीड़भाड़ वाले इलाकों में जहां-तहां सवारियों के इंतजार में ऑटो खड़ा कर जाम की वजह बनना, बेतरतीब ढंग से सड़कों पर चलना, पास न देना...आदि समस्याओं के कारण ये आए दिन जानलेवा सड़क दुर्घटनाओं का कारण बन रहे हैं। इसके चलते ऑटो को सड़कों पर मौत का सामान कहा जाने लगा है। खास बात यह है कि इस समस्या की ओर ध्यान देने वाला कोई नहीं है।

वाराणसी-प्रयागराज हाईवे से लेकर जिले के विभिन्न मार्गों तक पर पिछले कुछ महीनों के दौरान हुईं सड़क दुर्घटनाओं में 50 फीसदी से अधिक हादसों की वजह ऑटो बने। पिछले दिनों माधोसिंह में खमरिया मोड़ पर बाइक सवार दो लोगों की मौत के पीछे भी सड़क पर खड़ा होकर सवारी बैठा रहा ऑटो ही मुख्य वजह बना था। इस घटना के बाद लोगों ने काफी हंगामा भी किया था। इसके अलावा गोपीगंज, भदोही, ज्ञानपुर, औराई, घोसिया, माधोसिंह, जंगीगंज समेत तमाम इलाकों में ऑटो चालकों की लापरवाही के कारण हादसे होते रहे हैं। जिले में बिना फिटनेस और कागज के डग्गामार ऑटो का संचालन भी बड़े पैमाने पर हो रहा है। परिवहन विभाग से लेकर पुलिस तक की कृपा से इनकी मनबढ़ई बढ़ती जा रही है और आए दिन जानलेवा हादसे हो रहे हैं। ऑटो चालक कहीं भी आड़े-तिरछे वाहन खड़ा कर जाम लगा देते हैं। जिले में ज्ञानपुर-गोपीगंज, ज्ञानपुर-भदोही, गोपीगंज-औराई, गोपीगंज-ऊंज आदि रूटों पर बहुतायत में डग्गामार ऑटो को दिन-रात दौड़ाया जाता है। कई बार ये क्षमता से अधिक सवारियां लादकर भी दौड़ते हैं। इससे लोगों की जान खतरे में पड़ी रहती है। परिवहन विभाग में 600 ऑटो रजिस्टर्ड हैं, लेकिन सड़कों पर इनकी संख्या इससे कहीं ज्यादा है। सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी अरुण कुमार का कहना है कि बिना परमिट फिटनेस के चलने वाले ऑटो चालकों के खिलाफ समय-समय पर अभियान चलाकर कार्रवाई की जाती रहती है। साथ ही जागरूकता कार्यक्रम भी चलाए जाते हैं। यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/qtjwvwAA

📲 Get Bhadohi News on Whatsapp 💬