पुलवामा 💥हमले के बाद कारोबारियों ने खाई 😲कसम, पाकिस्तान के साथ जीवनभर 👎नहीं करेंगे कारोबार

  |   समाचार

पुलवामा हमले के बाद भारत के कारोबारी पाकिस्तान के साथ सदा के लिए अपना कारोबार खत्म कर देना चाहते हैं। इन कारोबारियों ने मनी भास्कर को बताया कि निहत्थे सीआरपीएफ के जवानों पर इस प्रकार के पाकिस्तान के समर्थन से होने वाले हमले के बाद वे हमेशा के लिए पाकिस्तान के साथ अपने कारोबारी रिश्ते को खत्म करना चाहते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने भी शुक्रवार सुबह पाकिस्तान को भारत की तरफ से दिए गए मोस्ट फेवर्ड नेशन (एमएफएन) का दर्जा छीन लिया। उरी में आतंकी हमले के बाद भी पाकिस्तान को दिए गए एमएफएन का दर्जा छीन लेने की चर्चा की गई थी, लेकिन बाद में उसे ठंडे बस्ते में डाल दिया गया था।

एमएफएन का दर्जा मिलने पर उस देश से होने वाले कारोबार पर लगने वाले टैरिफ में कोई भेदभाव नहीं किया जा सकता है। कारोबारियों ने बताया कि पाकिस्तान की नापाक मंशा का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पाकिस्तान ने आज तक भारत को एमएफएन का दर्जा नहीं दिया।

देश की सबसे बड़ी मंडी आजादपुर मंडी के टमाटर कारोबारी अनिल कुमार मल्होत्रा ने बताया कि अब तो किसी भी हाल में इस मंडी से पाकिस्तान के लिए कोई माल कभी भी रवाना नहीं होगा। उन्होंने बताया कि आजादपुर मंडी से पाकिस्तान के लिए टमाटर का निर्यात किया जाता रहा है, लेकिन पुलवामा में गुरुवार को हुए हमले के बाद यह हमेशा के लिए बंद हो जाएगा।

हालांकि, टमाटर का निर्यात पिछले कई महीनों से बंद है। भारत के पंजाब में पाकिस्तान से सटे कई शहरों से सीमेंट का आयात किया जाता है, लेकिन वहां के कारोबारी भी अब हर हाल में इसे बंद करने जा रहे हैं। पाकिस्तान और भारत के बीच 2 अरब डॉलर से अधिक का कारोबार होता है। इनमें भारत की हिस्सेदारी अधिक है। विश्व बैंक की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत और पाकिस्तान के बीच 35 अरब डॉलर से अधिक के कारोबार की संभावना है।

यहां देखें फोटो-http://v.duta.us/9OdMOwAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬