👉पुलवामा हमले में शहीदों की संख्या 😱बढ़कर हुई 44, शुरू हुई कैबिनेट🤜 की बैठक

  |   समाचार

जम्मू- कश्मीर के अवंतीपोरा के पास गोरीपोरा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए अब तक का सबसे बड़ा आतंकी आत्मघाती हमले में शहीदों की संख्या बढ्कर 44 पहुंच गई है।यह हमला सीआरपीएफ के वाहन को निशाना बनाकर आईईडी ब्लास्ट के जरिए किया गया। सीआरपीएफ के वाहनों पर यह हमला उस वक्त हुआ, जब सेना के जवानों का काफिला जम्मू से श्रीनगर की ओर जा रहा था।

इस हमले के बाद अब आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक शुरू हो गई है। जिसमें कोई अहम फैसला लिया जा सकता है। इसके अलावा गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी आज श्रीनगर दौरे पर जाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी, राजनाथ सिंह के अलावा आज घटनास्थल और सभी पहलूओं की जानकारी लेने के लिए एनआईए की टीम भी कश्मीर पहुंच गई है।

यहां देखें शहीद जवानों की सूची- http://v.duta.us/ZMXt_wAA

गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी श्रीनगर का दौरा कर हमले की जानकारी लेंगे। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक भी जम्मू से श्रीनगर आ गए हैं। हालातों की गंभीरता को देखते हुए अधिकारियों ने घाटी में इंटरनेट सेवा पर फिलहाल रोक लगा दी है। राज्यपाल सत्य पाल मलिक ने माना है कि गुरुवार को हुआ पुलवामा आतंकी हमला आंशिक रूप से खुफिया विफलता का परिणाम है, खासकर इस तथ्य के कारण कि सुरक्षा बल विस्फोटकों से लदी स्कॉर्पियो और मूवमेंट का पता नहीं लगा सके।

मलिक ने कहा, 'हम इसे (खुफिया विफलता) स्वीकार नहीं कर सकते। हम हाईवे पर चलते हुए विस्फोटकों से भरे वाहन का पता नहीं लगा पाए या उसकी जांच नहीं कर पाए। हमें स्वीकार करना चाहिए कि हमसे गलती हुई है। उन्होंने स्वीकार किया कि जब सुरक्षा बल स्थानीय आतंकवादियों को खत्म कर रहे थे, जिसमें जैश के लोग भी शामिल थे - उनमें से किसी के बारे में कोई चेतावनी या खुफिया इनपुट नहीं था कि उन्हें 'आत्मघाती हमलावर' बनने के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है।

यहां देखें फोटो-http://v.duta.us/NrRy7wAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬