पुलवामा💥 हमला: शुरुआती जांच में बड़ा 😲खुलासा, आरडीएक्स से नहीं किया 😱गया था धमाका

  |   समाचार / Jammu-And-Kashmirnews

पुलवामा हमले की शुरुआती जांच में बड़ा खुलासा हुआ है। इस हमले में आरडीएक्स का इस्तेमाल नहीं किया गया था, बल्कि कश्मीर के पत्थर के खदानों में इस्तेमाल किए जाने वाला बहुत अच्छी गुणवत्ता वाले यूरिया अमोनियम नाइट्रेट का इस्तेमाल किया गया था। आदिल ने इसे दो-तीन जगहों से इकट्ठा किया था।

हमले की जांच कर रही एनआईए, एनएसजी जैसी केंद्रीय जांच एजेंसियों के फॉरेंसिक विशेषज्ञों की मानें तो शुरुआती जांच में आरडीएक्स के इस्तेमाल न किए जाने की रिपोर्ट आई है। फॉरेंसिक विशेषज्ञों के अनुसार, अभी यह प्रतीत होता है कि खाद बनाने में इस्तेमाल होने वाले अमोनियम नाइट्रेट का इस्तेमाल किया गया है।

बता दें, अमोनियम नाइट्रेट एक अकार्बनिक यौगिक है। यह साधारण ताप व दाब पर सफेद रंग का क्रिस्टलीय ठोस पदार्थ होता है। कृषि में इसका उपयोग उच्च-नाइट्रोजनयुक्त उर्वरक के रूप में तथा विस्फोटकों में ऑक्सीकारक के रूप में होता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, विस्फोटक बनाने में प्रयुक्त सामग्री पंजाब या हरियाणा के स्थानीय डीलरों से खरीदी गई हो सकती है। जांच के पहले चरण में हमले में आरडीएक्स का इस्तेमाल न होना सुरक्षा एजेंसियों के लिए गंभीर चिंता का विषय है। आरडीएक्स का इस्तेमाल कश्मीर में एक दशक से अधिक समय से नहीं किया गया है।

बीते सालों में कश्मीर में आतंकी अमोनियम नाइट्रेट आधारित विस्फोटकों का ज्यादा इस्तेमाल कर रहे हैं। गंभीर चिंता का यह एक और कारण है क्योंकि आरडीएक्स की तुलना में अमोनियम नाइट्रेट बनाना काफी आसान है।

यहां पढ़ें पूरी खबर-http://v.duta.us/Z-UrFQAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬