[baran] - खड़ी फसल जमींदोज

  |   Barannews

बरसात ने अफीम काश्तकारों के निकाले आंसू

हरनावदाशाहजी. अचानक बदले मौसम के मिजाज ने बुधवार शाम को काश्तकारों की उम्मीदों पर पानी फेरा है। किसान इस बार रबी की फसल से अच्छे रकबा निकलने की उम्मीद से आशान्वित थे। लेकिन गुरुवार रात को तेज हवाओं के साथ बरसात व ओलावृष्टि ने भारी नुकसान पंंहुचाया।

अफीम बाहुल्य इस क्षेत्र में कई काश्तकारों की खेतों में खडी फसल जमींदोज हो गई। फूलबडौद निवासी गोकुल लोधा ने बताया कि उनके खेत में अफीम की फसल में डोडे आकार ले रहे थे। अगले सप्ताह में चीरा लगाने की तैयारी थी। लेकिन रात को तेज हवा के साथ हुई बरसात से फसल आड़ी पडक़र खराब हो गई है। उन्होंने बताया कि फसल आड़ी पडऩे के बाद अब चीरा लगाकर डोडों से दूध निकाल पाना संभव नहीं होगा। इससे काश्तकारों में निराशा है। इधर सरसों, धनिया, गेहूंं चना की फसलें भी आडी पडक़र खराब हो गई। कृषि विभाग सूत्रों का कहना है कि कालाटोल, ब्रम्हाखेडी , दीगोद जागीर, कंडारी हरनावदाशाहजी, फूलबडौद समेत आसपास के गांवेां में बरसात के साथ चली हवाओं व ओलावृष्टि से तीस फीसदी तक नुकसान हुआ है। अफीम में डोडे वाली फसल ढह गइ्र्र तो फूल झड़ गए। गेंहू भी प्रभावित होगा। इधर भाजपा नगर अध्यक्ष संजय पारेता ने फसलों में किसानों के भारी नुकसान बताया है। उन्होने नुकसान का सर्वे करवाकर काश्तकारों को राहत दिलाने की मांग की है।...

फोटो - http://v.duta.us/PSgmBgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/CweA4QAA

📲 Get Baran News on Whatsapp 💬